Breaking News
Home » मध्य प्रदेश » इन्दौर » इन्दौर – भावांतर भुगतान योजना के तहत इंदौर संभाग में 50 प्रतिशत प्याज और चने की खरीदी संपन्न

इन्दौर – भावांतर भुगतान योजना के तहत इंदौर संभाग में 50 प्रतिशत प्याज और चने की खरीदी संपन्न

बुरहानपुर, पंधाना और राजपुर में खुलेगें प्याज खरीदी केन्द्र

भावांतर भुगतान योजना
भावांतर भुगतान योजना
इन्दौर – कमिश्नर श्री राघवेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में आज कमिश्नर कक्ष में भावांतर भुगतान योजना के तहत चना, प्याज और लहसुन की खरीदी की समीक्षा की गई। इस अवसर पर कमिश्नर श्री सिंह ने उद्यानिकी मण्डी, नागरिक आपूर्ति और कृषि विभाग क अधिकारियों का निर्देश दिये कि भावांतर भुगतान योजाना के तहत प्याज खरीदी में तेजी लाई जाये। बुरहानपुर, पंधाना और राजपुर (बड़वानी) में प्याज के नई खरीदी केन्द्र तत्काल खोले जाये। उन्होने कहा कि किसानों को खरीदी, भुगतान, परिवहन और भण्डारण में किसी तरह की परेशानी नहीं आना चाहिए। संभाग में प्याज और लहसुन की खरीदी निजी व्यापारियों के द्वारा की जा रही हैं। शासन द्वारा भावांतर भुगतान योजना के तहत चना के दाम 4500 रूपये प्रति क्विंटल और प्याज का दाम 800 रूपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया हैं।
उन्होने कहा कि इंदौर संभाग में सभी 42 मण्डियों में चने की खरीदी समर्थन मूल्य पर तेजी से की जाये। खरीदी का काम समय-सीमा में पूरा किया जाये। किसानों को खरीदी के विरूद्ध यथाशीघ्र भुगतान किया जाये। खरीदी, भुगतान, परिवहन और भण्डारण में किसी तरह का विलम्ब नहीं होना चाहिए। किसानों की समस्याओं का यथाशीघ्र मौके पर निराकरण किया जाना चाहिए।
बैठक में बताया गया कि संभाग में कृषि उपज मण्डियों में निजी व्यापारियों द्वारा प्याज की खरीदी 2 से 7 रूपये प्रति किलोग्राम की दर से की जा रही हैं। इंदौर जिले में अभी तक 725 मैट्रिक टन प्याज की खरीदी की जा चुकी हैं। इसी प्रकार लहसुन की खरीदी 800 से 1600 रूपये प्रति क्विंटल की दर से की जा रही हैं।
बैठक में नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा बताया गया कि इंदौर संभाग के खण्डवा में 12805 मैट्रिक टन, इंदौर में 8730 मैट्रिक टन, झाबुआ में 884 मैट्रिक टन, धार में 5518 मैट्रिक टन, खरगोन में 5815 मैट्रिक टन, बड़वानी में 653 मैट्रिक टन, बुरहानपुर में 3209 मैट्रिक टन और अलीराजपुर में अभी तक 178 मैट्रिक टन चने की खरीदी समर्थन मूल्य पर की जा चुकी हैं। चने की खरीदी विपणन संघ और नागरिक आपूर्ति द्वारा की जा रही हैं। संभाग में किसानों से 50 प्रतिशत चने की खरीदी की जा चुकी हैं।
बैठक में संयुक्त आयुक्त श्रीमती सपना शिवाले, संयुक्त संचालक श्री रेवा सिंह सिसोदिया के अलावा उद्यानिकी, नागरिक आपूर्ति और विपणन संघ के अधिकारी मौजूद थे।

Check Also

इंदौर बना भारत का सबसे स्वच्छ शहर इंदौर नं-1 और भोपाल नं-2 लिस्ट देखें

देश के 434 शहरों एवं नगरों में कराये गए स्वच्छता सर्वेक्षण के बाद केंद्र सरकार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com